Homeनात शरीफजमी मैली नहीं होती नात ए पाक Zameen Maili Nahi Hoti Lyrics

जमी मैली नहीं होती नात ए पाक Zameen Maili Nahi Hoti Lyrics

जमी मैली नहीं होती कफन मैला नहीं होता Zameen Maili Nahi Hoti Lyrics in Hindi: नात शरीफ सुनना और पढना लोग खूब पसंद करते है ऐसे में नात शरीफ , नात ए पाक हिंदी में, जमी मैली नहीं होती कफन, जमन मैला नहीं होता लेकर हाजिर है

Zameen Maili Nahi Hoti Naat Sharif

नात शरीफजमी मैली नहीं होती कफन मैला नहीं होता
भाषाहिंदी, इंग्लिश
शायरसय्यिद नासिर हुसैन चिश्ती
नात-ख़्वाँशहबाज़ क़मर फ़रीदी, हाफ़िज़ अहमद रज़ा क़ादरी, ग़ुलाम मुस्तफ़ा क़ादरी
पोस्ट तारीख09/09/2022
पोस्ट अपडेट09/09/2022
केटेगरीनात शरीफ
क्रेडिटInHindiLive.com
एमपी3 डाउनलोडअपडेट किया जा रहा
पीडीऍफ़ डाउनलोडअपडेट किया जा रहा
रिंगटोन डाउनलोडअपडेट किया जा रहा
अन्यअलविदा अलविदा नात शरीफ
Zameen Maili Nahi Hoti Lyrics in Hindi

जमी मैली नहीं होती कफन मैला नहीं होता नात शरीफ

  • ज़मीं मैली नहीं होती, ज़मन मैला नहीं होता
  • मुहम्मद के ग़ुलामों का कफ़न मैला नहीं होता
  • मोहब्बत कमली वाले से वो जज़्बा है सुनो, लोगो
  • ये जिस मन में समा जाए, वो मन मैला नहीं होता
  • नबी के पाक लंगर पर जो पलते हैं कभी उन की
  • ज़बाँ मैली नहीं होती, सुख़न मैला नहीं होता
  • गुलों को चूम लेते हैं सहर नम शबनमी क़तरे
  • नबी की ना’त सुन लें तो चमन मैला नहीं होता
  • जो नाम-ए-मुस्तफ़ा चूमें, नहीं दुखती कभी आँखें
  • पहन ले प्यार जो उन का, बदन मैला नहीं होता
  • तिजोरी में जो रखा है सियाही आ ही जाती है
  • बटे जो नाम पर उन के वो धन मैला नहीं होता
  • नबी का दामन-ए-रह़मत पकड़ लो, ए जहाँ वालो
  • रहे जब तक ये हाथों में, चलन मैला नहीं होता
  • मैं नाज़ाँ तो नहीं फ़न पर मगर, नासिर
  • ये दावा है सना-ए-मुस्तफ़ा करने से फ़न मैला नहीं होता

Zameen Maili Nahi Hoti Zaman Maila Nahi Hota Lyrics in Hindi

zameen maili nahin hoti zaman maila nahin hota

muhammad ke Gulaamo.n ka kafan maila nahin hota

mohabbat kamli waale se wo jazba hai suno, logo

ye jis man men sama jaae, wo man maila nahin hota

mohabbat pyaare aaqa se wo jazba hai suno logo

ye jis man me sama jaae, wo man maila nahin hota

nabi ke paak langar par jo palte hain kabhi un ki

zabaan maili nahin hoti suKHan maila nahin hota

gulon ko choom lete hain sahar nam shabnami qatre

nabi ki naat sun len to chaman maila nahin hota

jo naam-e-mustafa choomen, nahin dukhti kabhi aankhen

pahan le pyaar jo un ka, badan maila nahin hota

tijori men jo rakha hai, siyaahi aa hi jaati hai

bate jo naam par un ke wo dhan maila nahi hota

nabi ka daaman-e-rahmat pakaD lo, ai jahaan waalo

rahe jab tak ye haatho.n me.n, chalan maila nahin hota

main naazaan to nahin fan par magar, Naasir ! ye daa’wa hai

sana-e-mustafa karne se fan maila nahi.n hota

Zameen Maili Nahi Hoti Zaman Maila Nahi Hota Lyrics in Hindi
लोकप्रिय लेख

यह भी देखे