Homeहाउ टूतलाक कैसे ले पत्नी से पति से Divorce Petition in Hindi

तलाक कैसे ले पत्नी से पति से Divorce Petition in Hindi

तलाक कैसे ले पत्नी से पति से Talak Kaise Le Patni se Pati Se in Hindi: भारत देश में पति एंव पत्नी को एक दुसरे से तलाक लेने का पूरा अधिकार है जाने तलाक की प्रक्रिया हिंदी में

अगर पत्नी एंव पति में से कोई एक तलाक की याचिका दायर करना चाहती है तो किसी भी वकील की मदद से तलाक की याचिका दायर किया जा सकता है

अगर पति तलाक की याचिका दायर करता है तो पत्नी को अदालत नोटिस भेजती है और पत्नी याचिका दायर करती है तो पति को नोटिस कोर्ट के माद्यम से भेजा जाता है

एक बार जब तलाक की याचिका न्यायालय में दायर हो जाती है उसके बाद न्यायलय, पति एंव पत्नी की याचिका पर सुनवाई करता है आगे जाने तलाक कैसे लेना चाहिए Talak kaise le in Hindi

तलाक कैसे लेना चाहिए

शादी विवाह के बाद तलाक कोई भी व्यक्ति नहीं चाहता है क्योकि यह बहुत ही कष्टकारी फैसला होता है साथ ही मुश्किल से भरा हुआ फैसला

भारत देश में तलाक के नियम बहुत ही ज्यादा कठिन है हालाकि देश में तलाक के नियम एंव कानून है लेकिन जटिल और काफी लम्बी प्रकिया के बाद यह संभव हो पाता है

जब आपने तलाक का फैसला कर ही लिया है और अपने रिश्ते को ख़त्म करके मुकाम देना ही चाहते है ऐसे में आपको नहीं पता तलाक कैसे लेना चाहिए तो हमारे द्वारा बताये गये नियम आपके लिए मददगार साबित होगा

तलाक कैसे ले पत्नी से पति से

Divorce Process in Hindi: अगर आप किसी वजह से तलाक लेने का निर्णय ले चुके है ऐसे में आपको सबसे पहले तलाक की याचिका दायर करने से पहले तलाक चेतावनी के बारे में जानकारी होनी चाहिए:-

  • तलाक चाहे पति से हो पति से, खुद निर्णय ले और सोच समझ कर निर्णय ले
  • तलाक के लिए याचिका दाखिल करने से पहले खुद को निडर एंव साहसी होना जरुरी है
  • फॅमिली कोर्ट में कोई भी केश खुद पेरवी करते समय अपनी सभी इन्द्रियाँ खुली रखे,
  • आपको सजग रहने की जरुरत है अपने किये हुए कार्य पर खुद का विश्वास बनाये रखे क्योकि यह जरुरी है
  • यदि फैमली कोर्ट में तलाक का केस खुद करना चाहते है
  • फिर आपको अद्ययन करने खुद विश्लेषण और तर्क करने की क्षमता विकसित करनी होगी
  • आपको शांति चाहिए या पैसा इसके बारे में विचार जरुर करे
  • तलाक का मुकदमा एक बार करने के बाद कभी भी वापस नहीं लेना चाहिए
  • गुजारा भत्ता के कारण भी आपको तलाक का मुकदमा वापस नहीं लेना चाहिए
  • ऐसे बहुत से लोग है जो गुजारा भत्ता देने के वजह से मुकदमा वापस लेने के बारे में सोचने लगते है
  • तलाक फाइल करने हेतु सही वकील का चयन करे
  • सही मार्गदर्शन एंव सही कानूनी प्रक्रिया न होने पर काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है
  • जज के दबाव में कभी भी कोई फैसला न ले क्योकि कई बार ऐसा होता है जज भी दबाव बनाते है
  • यदि आपको ऐसा लगता है तो आप जज से कुछ समय विचार करने के लिए मांग सकते है
  • कोई भी फैसला सोच समझ कर ले एक बार फैसला लेने के बाद पीछे मुड़कर नहीं देखना है

Divorce: तलाक के लिए आवेदन पत्र पीडीऍफ़

अगर आप तालक के लिए आवेदन पत्र खुद से लिखना चाहते है तो आप तलाक के लिए पीडीऍफ़ प्रारूप आवेदन पत्र डाउनलोड कर सकते है हमने के एक पीडीऍफ़ प्रारूप में तलाक के लिए प्राथना पत्र प्रारूप तैयार किया है जो निन्म्वत है

तलाक के लिए सबसे अच्छा वकील

अगर आप तलाक के लिए एक सबसे अच्छा वकील क़ानूनी सलाह के लिए चाहते है तो ऐसे में हम आपकी मदद कर सकते है लेकिन कैसे ?

  • ऐसे में अगर आपको क़ानूनी सलाह चाहिए तो आप हमारे एक्सपर्ट्स वकील से बात कर सकते है
  • किसी तरह के सलाह के लिए आप सीधे ही वकील से बात कर सकते है
  • सभी व्यक्ति का समय बहुत कीमती होता है हर कोई समय को बेफजुल बर्बाद नहीं करना चाहता है
  • ऐसे में आप हमारे कानूनी सलाहकार मोहम्मद नजीर वकील साहब से बात कर सकते है
  • आपको 1/2 आधे घंटे बात करने के लिए 500 रूपए का शुल्क देना होगा. संपर्क नंबर: 9120298775

तलाक के लिए क्या क्या डॉक्यूमेंट या कागज चाहिए?

अगर कोई व्यक्ति तलाक लेना चाहता है तो उसके पास तलाक के लिए डॉक्यूमेंट या कागज़ होना चाहिए जो निम्नवत है

  • शादी का मैरिज सर्टिफिकेट
  • शादी की फोटो या अन्य कोई प्रमाण
  • पहचान प्रमाण पत्र
  • कोई अन्य दस्तावेज जो आप संलग्न करना चाहते हैं
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो

Divorce Process in Hindi: तलाक कैसे ले प्रक्रिया

भारत में तलाक लेने की प्रक्रिया दो तरह से पूरी होती है पहला आपसी सहमती से और दुसरा एकतरफा तलाक

अगर कोई आपसी सहमती से तलाक के लिए आवेदन करता है ऐसे में तलाक आसानी से मिल सकता है एकतरफा तलाक की प्रकिया थोड़ी जटिल और लंबा समय खीचने वाली प्रक्रिया है लेकिन दोनों ही तलाक प्रकिया के लिए कुछ शर्ते व् नियम है

एकतरफा तलाक के नियम

  • एकतरफा तलाक का निर्णय आने में कितना समय लगेगा इसके लिए कोई समयसीमा निर्धारित नहीं की गई है
  • ऐसे में एकतरफा तलाक के लिए किसी ऐसे आधार को दिखाना होगा या साबित करना होगा
  • उसके बाद ही तलाक लिया जा सकता है अगर आप एकतरफा तलाक के लिए आवेदन कर रहे है तो अपने पार्टनर निम्नवत खामियां दिखा सकते है
  • जिससे तलाक मिलना आसान हो सकता है लेकिन आपको साबित भी करना होगा निम्नलिखित चीजे:-
  • बाहरी व्यक्ति से यौन संबंध बनाना
  • शारीरिक-मानसिक क्रूरता
  • दो या दो से अधिक वर्षो से अलग-अलग रहनें कि स्थिति में
  • गंभीर यौन रोग
  • मानसिक रोगी
  • धर्म परिवर्तन या धर्म संस्कारों को लेकर दोनों के बीच में तलाक

आपसी सहमति से तलाक के नियम

आपसी सहमती से तलाक लेने के आवेदन करना चाहते है तो आप निम्नवत प्रक्रिया को लागू कर सकते है इस तरह से आप आपसी सहमती से तलाक ले सकते है

  • सबसे पहले न्यायालय में किसी वकील के माद्यम से आप एक याचिका दायर करे
  • इस तलाक के याचिका में स्पष्ट रूप से लिखा होना चाहिए कि आपसी सहमती से हम पति एंव पत्नी तलाक लेना चाहते है
  • न्यायालय में याचिका दाखिल होने के बाद दोनों पक्ष के बयान सुने एंव दर्ज किया जाएगा
  • बयान प्रकिया पूरी हो जाने के बाद कुछ दस्तावेजों पर हस्ताक्षर करवाया जाएगा
  • अब तलाक के लिए अभी सभी प्रकिया पूरी हो चुकी है इसलिए अब 6 महीने का समय पत्नी एंव पति को दिया जायेगा
  • अगर 6 महीने में पति एंव पत्नी में से कोई भी एक तलाक न चाहे तो तलाक याचिका को वापस लिया जा सकता है
  • जब 6 महीने का समय गुजर जाएगा ऐसे में दोनों पक्ष को बताया जाएगा
  • यह अंतिम सुनवाई है और ऐसे समय में भी अगर दोनों पक्ष तलाक चाहते है
  • न्यायालय द्वारा तलाक का अंतिम निर्णय दे दिया जाएगा
लोकप्रिय लेख

यह भी देखे