Homeइस्लामशबे बरात की नमाज पढ़ने का तरीका Shab e Barat Namaz Ka...

शबे बरात की नमाज पढ़ने का तरीका Shab e Barat Namaz Ka Tarika

- Advertisement -

शबे बरात की नमाज पढ़ने का तरीका Shab e Barat Namaz Ka Tarika शबे बरात की नफिल नमाज पढ़ने का तरीका shab e barat nafil namaz ka tarika in hindi

- Advertisement -

हर साल की तरह 2023 में 07 मार्च को शबे बरात मनाया जाएगा शबे बरात/शब-ए-बारात का मतलब हिंदी में बरी वाली रात होता है इस दिन कब्रिस्तान जाकर अल्लाह पाक से कब्र के लोगो के लिए मगफिरत की दुआ की जाती है साथ ही पूरी रात अल्लाह रब्बुल इज्जत की इबादत की जाती है और अपने गुनाहों की रो रो अल्लाह से मांफी मांगी जाती है इबादत के लिए कुरआन पढ़ना/नमाज पढ़ना इत्यादि किया जाता है ऐसे में आपको शबे बरात की नफिल नमाज पढ़ने का तरीका बताने जा रहे है

शबे बरात की नमाज पढ़ने का तरीका

नमाज पढ़ने से पहले कुछ नियम है जिन्हें पालन करना जरुरी है जैसे: पाक साफ़ होना/गुस्ल करना/नमाज की नियत करना इत्यादि यह सभी जानकारी पहले ही दिया गया है आज हम शबे बरात नमाज की नियत और नमाज का तरीका चलिए जानते है

Shab e Barat: नमाज की नियत हिंदी में

Shab e Barat Namaz ki Niyat: नमाज की नियत बहुत ही आसान है आइये जाने:-

  • बावुजू क़िबला रुख होकर शबे बारात की नमाज के लिए खड़े हो जाए
  • उसके बाद Shab e Barat नमाज की नियत यूँ करें
  • 2x2x2 शबे बारात की नमाज की नयत करें यानी कुल 6 रकात नमाज अदा करना है
  • पहली 2 रकात नमाज की नियत: नियत की मैंने शबे बरात की
  • दो रकात नफ़्ल नमाज की दर्ज़ा ए उम्र बिल आखिर के लिए
  • खास वास्ते अल्लाह तआला के
  • मुंह मेरा काबा शरीफ की तरफ~ अल्लाह हू अकबर
  • अल्लाह हू अकबर” कहते हुए दोनों हाथ कंधो तक उठाया जाता है
  • उसके बाँध दोनों हाथो नीचे पेट/नाभि के पास बाँध ले
  • दूसरी 2 रकात नमाज की नियत: नियत की मैंने शबे बरात की
  • दो रकात नफ़्ल नमाज की बालाओ से मेरी हिफाज़त के लिए
  • खास वास्ते अल्लाह तआला के
  • मुंह मेरा काबा शरीफ की तरफ~ अल्लाह हू अकबर
  • तीसरी 2 रकात नमाज की नियत: नियत की मैंने शबे बरात की
  • दो रकात नफ़्ल नमाज की, अपने सिवाए किसी और का मोहताज़ ना बनाने वाले के लिए,
  • खास वास्ते अल्लाह तआला के मुंह मेरा काबा शरीफ की तरफ~ अल्लाह हू अकबर

शबे बरात की नफिल नमाज पढ़ने का तरीका

  • जिस तरह से अन्य नमाज में नफिल नमाज पढ़ते है
  • ठीक वैसे ही शबे बरात की 2x2x2 यानी कुल 6 रकात नफिल नमाज पढ़े
  • सबसे पहले बावुजू क़िबला रुख होकर खड़े हो जाना है
  • उसके बाद मगरिब नमाज के वक्त मगरिब की नमाज पहले पढ़े
  • मगरिब नमाज के फ़ौरन बाद शबे बरात की नफिल नमाज पढ़े
  • जब शबे बरात की नफिल 2 रकात नमाज मुकम्मल हो जाएँ
  • उसके बाद 21 मर्तबा सूरह इखलास/01 मर्तबा सूरह यासीन पढ़े
  • फिर अल्लाह पाक से दो रकआतो की बरकत से मेरी उम्र में बरकत की दुआ करें
  • इस तरह से शबे बरात की कुल 6 रकत नफिल नमाज 2x2x2 रकात करके पढ़े

शबे बरात की नमाज पढ़ने के फायदे

  • नमाज पढ़ने से बहुत से फायदे है
  • अगर शबे बरात की नमाज पढ़ते है तो हदीस में इनके निम्न फायदे बताये गए है
  • हदीस से पता चलता है शबे बरात के दिन जो शख्स 100 रकात नफिल नमाज पढ़ेगा
  • अल्लाह पाक उसके लिए फ़रिश्ते मुकर्रर कर देगा
  • जिसमे से 30 फरिस्ते जन्नत की खुशखबरी सुनाते रहेंगे
  • 30 फ़रिश्ते जहन्नम से बैख़ोफ़ी की बशारत सुनाते रहेंगे
  • 30 फरिश्ते बला/आफ़त को आपसे दूर रखेंगे
  • 10 फ़रिश्ते शैतान के फितनो से नमाज पढ़ने वाले को महफूज रखगे
  • नमाज में मेरे इस्लामिक भाइयों सकूँ है इसलिए पांच वक्त की नमाज पढ़े
  • शबे बरात की नमाज भी पढ़कर सवाब से मालामाल हो जाएँ
  • कल किसने देखा है यह दिन लौट कर क़यामत से पहले तक आना ही है
  • लेकिन हम होंगे इसकी गारंटी अल्लाह पाक के सिवा कोई नहीं जानता
  • अल्लाह पाक हम सब के गुनाहों को मांफ करें~आमीन दुआ मांगने का तरीका क्लिक से पढ़े

संबंधित शबे बरात की नमाज

Gorakhpur Hindi
Gorakhpur Hindihttps://gorakhpurhindi.com
गोरखपुर न्यूज़ इन हिंदी : गोरखपुर, उत्तर प्रदेश, भारत का एक जिला है और इस जिले में पर्यटन स्थल, चिड़िया घर, नौका विहार, रेलवे संग्रहालय, पार्क, मॉल, सिनेमा थियेटर इत्यादि मौजूद है गोरखपुर न्यूज़ इन हिंदी आपको वह सभी न्यूज़ से अवगत करती है जो आपके काम के हो अगर आप गोरखपुर के किसी स्थान के बारे में जानकारी चाहते है तो इस वेबसाइट पर वह सभी न्यूज़ खबर पढने को मिलेगा ~ नदीम गोरखपुरी
सम्बंधित लेख

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

यह भी पढ़े

Recent Comments