HomeIslamसेहरी की नीयत की दुआ क्या है Sehri Ki Niyat ki Dua...

सेहरी की नीयत की दुआ क्या है Sehri Ki Niyat ki Dua in Hindi

सेहरी की नीयत की दुआ क्या है Sehri Ki Niyat ki Dua in Hindi: रमजान का मुबारक महीना चल रहा है।ऐसे में हम रमजान का रोजा रखने और खोलने के लिए सेहरी और इफ्तार की नियत दुआ लेकर हाजिर है। रमजान माह में एक महीने का रोजा सभी मुस्लिम भाई बहन रहते है। ऐसे में बहुत से भाई बहन सेहरी की नीयत की दुआ क्या है? (Sehri Ki Niyat ki Dua in Hindi) भूल जाते है। क्योकि रमजान या रोजा साल में एक बार आता है। लम्बे समय के बाद रमजान रोजा आने से दिमाग से सेहरी या रोजा रखने खोलने की नियत भुला जाता है।

अगर आपको रमजान रोजा रखने की दुआ याद नहीं आ रहा है। ऐसे में रोजा रखने की नियत की दुआ हिंदी में उर्दू में (roza rakhne ki dua niyat) बताने जा रहे है, साथ ही रोजा खोलने यानी इफ्तार की दुआ (Roza Kholne ki Dua in Urdu, Hindi) क्या है की जानकारी दे रहे है।

यह पढ़े: मुहर्रम क्यों मनाया जाता है का इतिहास

सेहरी की नीयत हिंदी में

Sehri ki Niyat in hindi: अगर आप रमजान का रोजा रखने के लिए तैयार है। ऐसे में आपको सेहरी की नियत करना चाहिए सहरी की नियत क्या है आगे पढ़े।

“मैं रमजान के इस रोजे की नियत करता हूँ”

सेहरी की नियत हिंदी में तर्जुमा

सेहरी की नियत की दुआ उर्दू, हिंदी, अरबी में

रोजा रखने वाले रोजेदार को सेहरी का समय ख़त्म होने से पहले सेहरी की नियत की दुआ पढ़ लेना चाहिए। सेहरी एंव इफ्तार की नियत या दुआ उर्दू में ऐसे करे। (Sehri Ki Niyat ki Dua in Hindi)

“व बि सोमि गदिन नवई तु मिन शहरी रमजान”

सेहरी की नियत हिंदी में

وَبِصَوْمِ غَدٍ نَّوَيْتُ مِنْ” شَهْرِ رَمَضَانَ”

सेहरी की नियत की दुआ अरबी में

अल्लाहुमा लका सुमतु व बि क आमन्तू – व अलै क तवककल्तु व अला रिजि का अफ्तरतो

इफ्तार (रोजा खोलने) की दुआ हिंदी में

اَللّٰهُمَّ اِنِّی لَکَ صُمْتُ وَبِکَ اٰمَنْتُ وَعَلَيْکَ تَوَکَّلْتُ وَعَلٰی رِزْقِکَ اَفْطَرْتُ

रोजा खोलने (इफ्तार) दुआ अरबी में

सेहरी की नियत कैसे करे

Sehri ki Niyat Kaise Kare: अगर आप रमजान में सेहरी की नियत करना चाहते है। ऐसे में सुबह की अजान (फज्र) होने से पहले कुछ खाए उसके बाद रोजा रखने की नियत दुआ यानी सेहरी की नियत दुआ पढ़े। जो पहले हमें बताया है उसे पढ़े ऐसा कई बार होता है, सेहरी का समय गुजर जाता है। हम सही समय पर जागते नहीं है ,ऐसे में आपको भूखे प्यासे बिना सेहरी खाए रोजा रहना होगा, लेकिन आपको रोजा रखने यानी सेहरी की नियत करना होगा। फिर ही रोजा कबुल होगा अगर ऐसा नहीं करते है तो इसका मतलब आप रोजे से नहीं बल्कि भूखे प्यासे है इसलिए आप सेहरी की नियत की दुआ जरुर पढ़े। (Sehri Roza Rakhne ki Niyat ki Dua in Hindi)

रोजे रखने के बाद क्या नहीं करना चाहिए

Roza Rakhne ke Baad Kya Nahi Karna Chahiye: एक रोजा रखने वाले रोजेदार को कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। क्योकि रोजा रखने के बाद अगर आप ऐसा करते है। ऐसे में आपका रोजा मुकम्मल नहीं होगा, एंव टूट जाएगा। आइये जाने रोजा रखने के बाद क्या नहीं करना चाहिए।

  • रोजेदार को झूट नहीं बोलना चाहिए इस्लाम में झूठ सामान्य दिन में बोलने की मनाही है, लेकिन रोजा रखने वाले रोजेदार अगर झूट बोलते है ऐसे में रोजा टूट जाता है।
  • रोजा रखने वाले मर्द एंव औरत को इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि जुबान से कोई गलत बात, गन्दी बाते इत्यादि नहीं निकले क्योकि ऐसा करने से रोजा मकरूह यानी टूट जाता है।
  • रोजा में या अन्य दिनों में किसी भी व्यक्ति का दिल दुखाने से बचे एंव रोजेदार ऐसा करता है ऐसे में रोजा मकरूह हो जाएगा।
  • अपने कान आँख और शर्मगाह की हिफाजत करे। क्योकि रोजा मकरूह होने के लिए इतना काफी है इसलिए इनकी हिफाजत करे।

सेहरी की नीयत की दुआ

रोजा रखने से पहले सेहरी या भोजन करना सुन्नत है ऐसे में रमजान के महीने में सही समय पर उठकर सेहरी करना चाहिए उसके बाद सेहरी की नियत की दुआ पढनी चाहिए। (Sehri Ki Niyat ki Dua in Hindi)

दिन में जितना हो सके अल्लाह की इबादत, कुरआन पाक की तिलावत और दिन के काम करना चाहिए, इफ्तार के समय सही समय पर दस्तरख्वान पर बैठ जाना चाहिए और अल्लाह पाक को याद करना चाहिए। जो भी आपको दुआ सुरह याद हो उसे पढना चाहिए। जब इफ्तार का समय हो जाए। ऐसे में आपको इफ्तार की दुआ पढ़ना चाहिए। रोजे को पानी एंव मीठे चीज से, अगर मौजूद हो तो ख़त्म करना चाहिए।

Roza Rakhne ki Dua | Roza Kholne ki Dua | Roza Rakhne ki Niyat
नदीम गोरखपुरी
नदीम गोरखपुरीhttps://gorakhpurhindi.com
गोरखपुर न्यूज़ इन हिंदी : गोरखपुर, उत्तर प्रदेश, भारत का एक जिला है और इस जिले में पर्यटन स्थल, चिड़िया घर, नौका विहार, रेलवे संग्रहालय, पार्क, मॉल, सिनेमा थियेटर इत्यादि मौजूद है गोरखपुर न्यूज़ इन हिंदी आपको वह सभी न्यूज़ से अवगत करती है जो आपके काम के हो अगर आप गोरखपुर के किसी स्थान के बारे में जानकारी चाहते है तो इस वेबसाइट पर वह सभी न्यूज़ खबर पढने को मिलेगा { नदीम गोरखपुरी (Mohd Nadeem) }
RELATED ARTICLES

यह भी देखे