Homeइस्लामदुरूद शरीफ की फजीलत Darood Sharif ki Fazilat in Hindi

दुरूद शरीफ की फजीलत Darood Sharif ki Fazilat in Hindi

दुरूद शरीफ की फजीलत Darood Sharif ki Fazilat in Hindi: इस्लाम के अनुसार दरूद शरीफ की बहुत बहुत फजीलत है हम आपको दुरूद शरीफ की फजीलत क्या है थोड़े में लिखकर बताने की कोशिश करते है कुरआन शरीफ की तिलावत के बाद सबसे बेहतर इबादत दरूद शरीफ पढ़ना है और तमाम वजीफो से बेहतर वजीफा, दरूद शरीफ का है परवरदिगारे आलम ने फरमाया – Darood Sharif ki Fazilat in Hindi

"इन्नलल्ला-ह-व् मलाई क त हु युसल्लू न अलन्नबीयि या ऐयुहल्लजी न-आ-नू-सल्लू अलैहि व् सल्लिमू तस्लीमाo"
तर्जुमा: अल्लाह तआला और उसके फरिस्ते नबी (सल्लल्लाहु अलैहि व् सल्लम) पर दरूद भेजते है ऐ ईमान वालो तुम भी दरूद व् सलाम भेजो

Darood Sharif ki Fazilat in Hindi

“नबी करीम सल्लल्लाहु अलैहि व् सल्लम ने फरमाया, जो शख्स मुझ पर एक बार दरूद शरीफ भेजता है, अल्लाह पाक उस पर १० रहमते नाजिल फरमाते है”

“दूसरी जगह फरमाया, जो मुझ पर एक बार दरूद शरीफ भेजता है, अल्लाह तआला और उसके फरिश्तों पर, उस पर अल्लाह पाक सत्तर रहमते भेजते है”

“अल्लाह पाक एक जगह और फरमाया जब कोई ज्यादा से ज्यादा मुझ पर दरूद शरीफ भेजता रहे, अल्लाह तआला उसको तमाम रंज और गम से बचा लेगा और गुनाह माफ़ फरमा देगा”

दुरूद शरीफ की फजीलत हिंदी में

Darood Sharif ki Fazilat in Hindi: नबी करीम सल्लल्लाहु अलैहि व् सल्लम ने फरमाया “जिब्रील अलैहिस्सलाम मेरे पास आए और मुझ से फरमाया, मैं तुम्हे बशारत देता हु कि अल्लाह पाक फरमाता है, जो तुझ पर दरूद भेजगा, मैं भी उस पर दरूद भेजूंगा और जो तुझ पर सलाम भेजगा, मैं उस पर सलाम भेजूंगा

दूसरी रिवायत में यह भी है कि अल्लाह तआला ने बशारत भेजी है, जो आप पर एक दरूद भेजगा, मैं उस पर दस रहमते भेजूंगा और दस गुनाह माफ़ कर दूंगा और दस दर्जे बुलंद करूँगा और इसी तरह से एक सलाम के बदले दस सलाम भेजूंगा

दुरूद शरीफ की फजीलत क्या है

Darood Sharif ki Fazilat in Hindi: यक़ीनन दरूद शरीफ की बरकत से दुनिया एंव आखिरत की मुसीबते ख़त्म हो जाती है, बहुत से औलिया अल्लाह का कौल है कि जो कुछ हमको मिला है वह सब हुजूर नबी ए करीम सल्लल्लाहु अलैहि व् सल्लम पर दरूद शरीफ भेजने से मिला है

अल्लाह पाक ने फरमाया “मेरे फ़रिश्ते जमीन पर फिरते रहते है मेरी उम्मत के सलाम को मुझ पर पेश करते है हजरत उमर रजीo फरमाते है कि जब तक नबी करीम सल्लल्लाहु अलैहि व् सल्लम पर दरूद न भेजोगो, तुम्हारी दुआए, जमीन व् आसमान के दर्मियान लटकी रहेगी, दरूद शरीफ पढ़ने से दुआ कबुल होती है”

नबी करीम सल्लल्लाहु अलैहि व् सल्लम ने फरमाया ” जो मुझ पर दस दरूद भेजगा, अल्लाह पाक उस पर 100 रहमते नाजिल फरमाएगा और जो 100 बार पढ़ेगा, वह निफाक व् दोजख से निजात हासिल करेगा” दरूद शरीफ पढने के बे शुमार फजीलत एंव फायदे है, जिनको अलग लिखा जाए तो एक बहुत बड़ी एंव मोटी किताब बन जाए

Darood Sharif Kab Padhna Chahie

  • दरूद शरीफ पढने के लिए वक्त, जब “नबी करीम सल्लल्लाहु अलैहि व् सल्लम” का नामे मुबारक सुने या लिखे
  • जब किसी मंजिल में शरीक हो और जब वहा से रुख्सत हो
  • दरूद शरीफ बाजार में जाते वक्त एंव वापसी के वक्त पढ़ना चाहिए
  • सोते वक्त एंव सो कर उठने वक्त
  • रंज व् गम में दरूद शरीफ पढने से इंशाअल्लाह रंज व् गम दूर हो जाएगा
  • कुरआन मजीद के ख़त्म करने के बाद
  • जुमा मुबारक के दिन
  • मस्जिद में जाते वक्त और मस्जिद को देखते वक्त
  • नमाजे जनाजा की दूसरी तकवीर के बाद
  • अजान के जवाब के बाद और इकामत के वक्त
  • दुआ के शुरू एंव आखिर में
  • सुबह एंव शाम के वक्त
  • वुजू के बाद
  • नमाज पढने के बाद
  • हर काम शुरू करते वक्त

गरज जितना पढोगे, उतना ही अल्लाह तआला और फरिश्तो की रहमत के हकदार होगे ऐसे में जितना अधिक दरूद शरीफ पढ़ सकते है पढ़े

सबसे छोटा दरूद शरीफ हिंदी

Darood Sharif in Hindi: अगर आपको दरूद शरीफ याद नहीं है ऐसे में हम आपको सबसे छोटा दरूद शरीफ हिंदी में बता रहे है जिसे याद करना काफी आसान होगा

"अल्लाहुम-म सल्लि अला मुहम्मदिव-व्-अला आली मुहम्मदिन कमा सल्ले-त अला इब्राहिम इन्न-क हमीदुम मजीद"
तर्जुमा: ऐ, अल्लाह - रहमत नाजिल कर मुहम्मद(सल्लल्लाहु अलैहि व् सल्लम ) पर और आले मुहम्मद (सल्लल्लाहु अलैहि व् सल्लम) पर, जैसा की रहमत नाजिल की इब्राहिम (अलैहि व् सलाम) आले इब्राहिम पर, बेशक तू ही तारीफ़ के लायक आयर बुजुर्ग है सबसे छोटा दरूद शरीफ हिंदी

दरूद शरीफ इब्राहिम हिंदी में

"अल्लाहुम-म बारीक अला मुहम्मदिव-व्-अला आली मुहम्मदिन कम बारक-त अला इब्राहि-म व् अला आली इब्राहि-म इन्न-क हमीदुम मजीद0"
तर्जुमा: ऐ अल्लाह- तू बरकत नाजिल अता फरमा मुहम्मद (सल्लल्लाहु अलैहि व् सल्लम ) पर और आले मुहम्मद (सल्लल्लाहु अलैहि व् सल्लम ) पर, जिस तरह इब्राहिम और आले इब्राहिम (अलैहि व् सलाम) पर बरकत उतारी, तू ही तारीफ़ के लायक और बुजुर्ग है दरूद शरीफ इब्राहिम हिंदी में

दुरूद शरीफ इन हिंदी इमेजेज

"अल्लाहुम-म सल्लि अला मुहम्मदिव-निन-नबीयि व् अज्बाजिही उम्म-हातील मुहमिनी-न व् जुर्री यातिही व् अहिल बैतिही कमा सल्ले-त अला इब्राहि-म व् अला आली इब्राहि-म इन्न-क हमीदुम मजीदo"
तर्जुमा: इलाही- रहमत भेज मुहम्मद (सल्लल्लाहु अलैहि व् सल्लम ) पर और आपकी बीवियो पर, जो उम्मत की माँए है, और आपकी औलाद और अहले बैत पर, जिस तरह रहमत भेजी इब्राहिम और आले इब्राहिम (अलेहिस्सलाम} पर, तू खूबियों वाला, इज्जत वाला है दुरूद शरीफ इन हिंदी इमेजेज
Darood Sharif ki Fazilat in Hindi
लोकप्रिय लेख

यह भी देखे