Homeबिज़नस न्यूज़चेक बाउंस के नए नियम 2022 Check Bounce New Rules in Hindi

चेक बाउंस के नए नियम 2022 Check Bounce New Rules in Hindi

चेक बाउंस के नए नियम 2022 Check Bounce New Rules in Hindi 2022: अगर आप चेक से लेन देन करते है ऐसे में चेक बाउंस के नए नियम 2022 क्या है जाने

जब कोई व्यक्ति किसी दुसरे व्यक्ति को चेक प्रदान करता है लेकिन वह चेक बाउंस हो जाए तो ऐसे में चेक देने वाले पर जुर्माना लगाया जा सकता है, साथ ही जेल जाने की सजा भी मिल सकती है। ऐसे में चेक बाउंस के नियम व् शर्ते आपको पता होना चाहिए। चलिए जानते है चेक भुगतान के नए नियम क्या है?

यह पढ़े: बजाज फाइनेंस सिबिल स्कोर चेक कैसे करें फ्री

Check Bounce: चेक बाउंस का मतलब क्या होता है

Check Bounce Ka Matlab Kya Hota Hai: जब आप किसी व्यक्ति को भुगतान के लिए चेक देते है वह चेक बैंक के द्वारा किसी कारण से रिजेक्ट करा दिया जाए ऐसे में बैंकिंग या कानून की भाषा में इसका मतलब चेक बाउंस होता है चेक बाउंस होने पर सजा का प्रावधान है इसके लिए कुछ नियम एंव कानून भारत देश में बने हुए है

जाने चेक (Check Bounce) बाउंस होने के कारण

Check Bounce Hone Ke Karan: चेक बाउंस होने के कई कारण हो सकते है लेकिन कुछ मुख्य कारण है। जिसके कारण आपका चेक बाउंस हो सकता है। जोकि निम्नवत है :-

  • जब चेक बैंक में जमा किया उस समय आपके खाते में बैलेंस का न होना।
  • देनदार का सिग्नेचर चेक पर मेल ना करना।
  • देरी से मतलब चेक इशु होने के 3 महीने बाद चेक बैंक में जमा करना।

चेक बाउंस के नए नियम 2022

Check Bounce New Rules in Hindi 2022: अगर आपने किसी व्यक्ति से चेक लिया है वह बाउंस हो जाता है तो जाने चेक बाउंस के नियम क्या है?

  • चेक बाउंस हो जाने पर इन नियम का पालन जरुर करे
  • 30 दिन के भीतर चेक देने वाले व्यक्ति को(देनदार) को एक लीगल नोटिस भेजना चाहिए।
  • चेक बाउंस (Check Bounce) के लिए लीगल नोटिस बनाने के लिए किसी वकील के पास जा सकते है।
  • अब आपको Check Bounce देने वाले व्यक्ति को 15 दिन का समय देना है
  • अगर देनदार पैसा दे देता है तो बात यही ख़त्म हो जाती है
  • अगर 15 दिन दिन के भीतर आपको चेक पर मौजूद भुगतान राशि देनदार से नहीं प्राप्त होती है
  • ऐसे में आप 15 दिन बाद किसी वकील के माद्यम से केस के लिए दरखास्त दे सकते है
  • इस तरह से चेक का भुगतान करने वाले व्यक्ति को सजा भी मिलेगी
  • साथ ही कोर्ट देनदार को चेक भुगतान राशि का दुगुना भुगतान करने के लिए सजा दे सकती है।
  • अगर आपका चेक बाउंस होता है, तो आप सही समय पर चेक बाउंस के प्रकिया या नियम को पूरा करे अन्यथा कोई फायदा नहीं होगा

चेक बाउंस होने पर क्या सजा मिलती है

अगर आपने किसी को चेक दिया तो वह इस बात का सबूत हो जाता है, कि आपको लेनदार को चेक पर मौजूद राशि का भुगतान करना है। ऐसे में आपका चेक बाउंस होगा तो आपको दो तरह की सजा मिल सकती है

  • पहला भुगतान राशि का दुगुना राशि देना पड़ सकता है
  • दूसरा चेक बाउंस होने के कंडीशन में आपको जेल भी हो सकती है
  • नेगोंशिएसन इन्स्ट्रूमेंट एक्ट के सेक्शन 138 के तहत यह सभी प्रकिया की जाती है।
  • ऐसे में चेक बाउंस होने से बचना ही सही उपाय है। चेक बाउंस के नियम की अधिक जानकारी विडिओ में देखे
check bounce rule in hindi

अगर चेक बाउंस होता है और केस किया जाए, तो कब तक चलेगा, इसकी कोई समय सीमा तह नहीं की गई है। क्योकि हमारे भारत देश में पहले से ही कई तरह के मामले अदालतों में लंबित है इसलिए चेक बाउंस केस कितने दिन चलेगा इसके बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता है।

लोकप्रिय लेख

यह भी देखे