Homeनात शरीफचमन चमन की दिलकशी गुलों की है Chaman chaman naat Sharif

चमन चमन की दिलकशी गुलों की है Chaman chaman naat Sharif

चमन चमन की दिलकशी गुलों की है ताजगी नबी नबी नात शरीफ chaman chaman naat sharif chaman chaman ki dilkashi naat lyrics in hindi


चमन चमन की दिलकशी गुलों की है ताजगी नबी नबी नात शरीफ

आज एक और नात शरीफ चमन चमन की दिलकशी गुलों की है ताजगी नबी नबी लेकर हाजिर है आइये पढ़े (Naat sharif Hindi me likha hua nabi nabi naat sharif lyrics hindi)

Chaman Chaman ki dilkashi Naat Lyrics in Hindi

चमन चमन की दिलकशी गुलों की है वो ताज़गी

है चौंद जिनसे शबनमी वो कहकशों की रौशनी

फज़ाओं की वो रागनी

हवाओं की वो नगमगी

है कितना प्यारा नाम भी नबी नबी नबी नबी

वो आमदे बहार है वो नूर की कतार हैं

फज़ा भी खुशगवार है हवा भी मुशकबार है

हवा से मैंने जब कहा ये कौन आ गया बता

हवा पुकारती चली नबी नबी नबी नबी

ज़मीं बने जमां बने मकीं बने मकां बने

चुनीं बने चुना बने वो वजहे कुन फकां बने

कहा ये मैंने ऐ ख़ुदा ये किसके सदके में बना

तो रब ने भी कहा यही नबी नबी नबी नबी

जमालियात आपसे तजल्लियात आपसे

तखय्युलात आपसे तसर्राफात आपसे

बस एक निगाहे मुस्तफा के किबला भी बदल गया

ख़मीदा सर है खुसरवी नबी नबी नबी नबी

चले जो कत्ल को उमर कहा किसी ने रोक कर

कहाँ चले हो और किधर मिज़ाज क्यों है अर्श पर

जरा बहन की लो खबर फिदा है वो रसूल पर

वह कह रही है हर घड़ी नबी नबी नबी नबी

उमर चले बहन के घर ये दिल में सोच सोच कर

उड़ायेंगे हम उनका सर जो हैं नबी के दीन पर

सुना है जब कुरान को खुदा के उस बयान को

उमर ने भी कहा यही नबी नबी नबी नबी

यह पढ़े:

Chaman Chaman ki dilkashi Naat Lyrics in Hindi
लोकप्रिय लेख

यह भी देखे