Homeहिन्दू धर्मभाई दूज क्यों मनाया जाता है की कहानी Bhai dooj in Hindi

भाई दूज क्यों मनाया जाता है की कहानी Bhai dooj in Hindi

भाई दूज क्यों मनाया जाता है की कहानी Bhai dooj in Hindi: भाई बहन के पवित्र रिश्ते एंव प्यार का त्यौहार भाई दूज भारत में बड़ा ही धूम धाम से मनाया जाता है आइये जाने भाई दूज क्यों मनाया जाता है एंव भाई दूज की कहानी हिंदी में (bhai dooj kyu manaya jata hai)

भाई दूज क्यों मनाया जाता है

Bhai Dooj kyu manaya jata hai In Hindi: भाई दूज का त्यौहार भाई बहन के स्नेह का त्यौहार है इस दिन बहन अपने भाई को टिका लगाकर भाई की लम्बी आयु की एंव अच्छे स्वास्थ की मनोकामनाए करती है भाई दूज का त्यौहार पांच दिवसीय दीपावली का हिस्सा है मतलब दीपावली के दुसरे दिन बाद आता है यह हिंदी कैलेंडर के अनुसार कार्तिक में शुक्ल पक्ष के दुसरे दिन मनाया जाता है

भाई दूज का त्यौहार भाई बहन के स्नेह का त्यौहार है लेकिन भाई दूज की शुरुवात के बारे में बहुत सी कहानी प्रचलित है आइये जाने भाई दूज की कहानी

Bhai Dooj ki Kahani in Hindi

भाई दूज की कहानी इन हिंदी: भगवान सूर्य नारायण की पत्नी की कोख से यमराज एंव यमुना का जमुना का जन्म हुआ था यमुना का अपने भाई यमराज से बहुत ही स्नेह था इसलिए यमुना अपने भाई से हमेशा कहती थी इष्ट मित्रो के साथ हमारे घर आये एंव भोजन करो

अपने कार्य में व्यस्त होने के कारण यमराज भोजन निमंत्रण को टालते रहे इसके बाद कार्तिक शुक्ला का दिन आया लेकिन इस यमुना ने अपने भाई यमराज को भोजन का निमंत्रण देकर वचनबध्द कर लिया

यमराज प्राणों को हरने वाले देवता है इसलिए उन्हें कोई भी अपने घर नहीं बुलाता है यह सोचकर यमराज जी बहन के घर भोजन निमंत्रण पर जाते है एंव नरक में रह रहे जिवों को भी मुक्त कर दिया

यमुना का अपने भाई यमराज के घर आने पर बहुत खुश हुई यमुना ने, स्नान एंव पूजन करके स्वादिस्ट भोजन कराया इस तरह से यमराज जी बहुत प्रसन्न हुए ऐसे में बहन से यमराज जी ने वर मागने को कहा

यमुना ने कहा कि हे भद्र! “आप प्रति वर्ष इसी दिन मेरे घर आया करो. मेरी तरह जो बहन इस दिन अपने भाई को आदर सत्कार करके टीका करें, उसे तुम्हारा भय न रहे.” यमराज ने तथास्तु कहकर यमुना को अमूल्य वस्त्राभूषण देकर यमलोक चले गए

इस तरह से भाई दूज पर्व की परम्परा शुरू हुई. ऐसी मान्यता है कि जो आतिथ्य स्वीकार करते हैं, उन्हें यम का भय नहीं रहता. इसीलिए भैयादूज को यमराज तथा यमुना का पूजन किया जाता है. यह थी दीपावली भाई दूज की कहानी (bhai dooj ki kahani in hindi)

भाई दूज कब है 2022

Bhai dooj kab hai 2022: भाई दूज का त्यौहार दीपावली के दुसरे दिन बाद मनाया जाता है भाई दूज कब है 2022 एंव 2023 में आइये जाने:-

भाई दूज त्योहारकब है
भाई दूज या भैया दूज का त्यौहार कब है 20222022 में भाई दूज या भैया दूज दिन बुधवार एंव तारीख 26 अक्टूबर को मनाया जाएगा
भाई दूज या भैया दूज का त्यौहार कब है 20232023 में भाई दूज या भैया दूज दिन बुधवार एंव तारीख 14 नवम्बर को मनाया जाएगा
भाई दूज या भैया दूज का त्यौहार कब है 20242024 में भाई दूज या भैया दूज दिन रविवार एंव तारीख 03 नवम्बर को मनाया जाएगा
bhai dooj kab hai

Bhai dooj kaise manate hain

हर साल दीपावली के दुसरे दिन बाद भाई दूज या भैया दूज का पर्व बड़े धूमधाम से मनाया जाता है आइये जाने भाई दूज या भैया दूज कैसे मनाया जाता है

  • भाई दूज या भैया दूज के दिन बहन अपने भाई को एक बढ़िया भोजन करने के लिए आमंत्रित करती है
  • भोजन में मिठाई एंव भाई के पसंदीदा व्यंजन शामिल होते है इस दिन बहन, भाईयो का “आरती” के साथ अपने घर में स्वागत करती है
  • भाई के माथे पर सुन्दर एंव चावल का टिका लगाती है एंव भाईयो को मिठाई खिलाकर उनका मुह मीठा करती है
  • भाई दूज के दिन बहन, भाई के स्वस्थ जीवन की कामना एंव प्राथना करती है एंव भाई इस दिन बहन के जीवन की रक्षा का वादा करते है एंव बहन के लिए कई तरह के उपहार देते है
  • जिनके भाई दूर दराज रहते है या फिर जिनके भाई नहीं है वह महिलाए आरती करते हुए चन्द्रमा से प्राथना करती है
bhai dooj kyu manaya jata hai

अन्य पढ़े

लोकप्रिय लेख

यह भी देखे