Homeइस्लामबकरा ईद कब है क्यों मनाया जाता है का इतिहास फोटो 2022

बकरा ईद कब है क्यों मनाया जाता है का इतिहास फोटो 2022

बकरा ईद कब है क्यों मनाया जाता है का इतिहास फोटो 2022 (Bakra Eid Kab Hai 2022): हर साल की तरह 2022 की बकरीद (बकरा ईद) भी आने वाली है। क्योकि अभी रमजान चल रहा है। और रमजान के 2 से 3 महीने बाद बकरा ईद मनाया जाता है। ऐसे में 2022 की बकरा ईद कब है? सऊदी अरब में बकरा ईद कब है? इत्यादि सवाल खोजा जाता है। ऐसे में बकरीद 2022 {bakra eid 2022 mein kab hai) में कब है, बकरा ईद क्यों मनाया जाता है? बकरा ईद का इतिहास क्या है? की जानकारी देने की कोशिश करे रहे है।

बकरीद (ईद उल अजहा) कब है 2022

bakra eid 2022 mein kab hai: सबसे पहले बकरीद (ईद उल अजहा) कब है 2022 की जानकारी देते है। उसके बाद बकरीद क्यों मनाया जाता है? एंव बकरीद (ईद उल अजहा) का इतिहास फोटो के बारे में जानेगे।

इंडिया (भारत) में बकरा ईद कब है साल 20
22
बकरा ईद कब है दिनकब है बकरा ईद तारीख
2022 में बकरा ईद/ईद उल अजहा कब हैरविवार2022 की बकरा ईद 10 जुलाई 2022
2023 में बकरा ईद/ईद उल अजहा कब हैगुरुवार2023 की बकरा ईद 29 जून, 2023
2024 में बकरा ईद/ईद उल अजहा कब हैसोमवार2024 की बकरा ईद 17 जून, 2024
2025 में बकरा ईद/ईद उल अजहा कब हैशनिवार2025 की बकरा ईद 07 जून, 2025
2026 में बकरा ईद/ईद उल अजहा कब हैबुधवारअपडेट किया जा रहा है
2027 में बकरीद/ईद उल अजहा कब हैअपडेट किया जा रहा है
2028 में बकरीद/ईद उल अजहा कब हैअपडेट किया जा रहा है
2029 में बकरीद/ईद उल अजहा कब हैअपडेट किया जा रहा है
203 में बकरीद/ईद उल अजहा कब हैअपडेट किया जा रहा है
बकरा ईद कब है दिन तारीख साल 2022

ईद उल अजहा (बकरा ईद कब है 2022, 2023, 2024……..?

बकरा ईद को ईद उल अजहा (Eid al Adha 2022, Eid UL Adha 2022 Kab hai) के नाम से जाना जाता है। ईद उल अजहा पर कुर्बानी किया जाता है। लेकिन पहले हम जानते है। Eid al Adha 2022 के लिए गूगल पर क्या सर्च किया जा रहा है।

  • बकरा ईद कब है 2022
  • 2022 में बकरा ईद कब है
  • Bakra Eid 2022 date in India
  • सऊदी अरब में बकरा ईद कब है?
  • eid ul adha kab hai 2022
  • eid ul adha kab manaya jata hai
  • बकरीद क्यों मनाया जाता है?
  • ईद-उल-अजहा क्यों मनाया जाता है
  • bakrid kyon manaya jata hai

सऊदी अरब में बकरा ईद कब है?

भारत (इंडिया) में बकरा ईद कब है? ऐसे में हमने आपको पहले ही बताया है कि भारत(इंडिया) की बकरा ईद 10 जुलाई 2022 दिन रविवार को मनाया जाएगा। अब जानते है, सऊदी अरब में बकरा ईद कब है 2022?

सऊदी में बकरा ईद कब है सालसऊदी में बकरा ईद कब है दिनसऊदी में बकरा ईद कब है तारीख
सऊदी में बकरा ईद/ईद उल अजहा कब है 2022शुक्रवार2022 की बकरा ईद सऊदी में 08 जुलाई 2022
सऊदी में बकरा ईद/ईद उल अजहा कब है 2023मंगलवार2023 की बकरा ईद सऊदी में 27 जून 2023
सऊदी में बकरा ईद/ईद उल अजहा कब है 2024अपडेट किया जा रहा है
सऊदी में बकरा ईद कब/ईद उल अजहा है 2025अपडेट किया जा रहा है
सऊदी में बकरा ईद/ईद उल अजहा कब है 2026अपडेट किया जा रहा है
सऊदी में बकरा ईद कब है 2022

बकरा ईद/ईद-उल-अजहा क्यों मनाया जाता है?

bakra eid/eid ul-adha kyu manaya jata hai: बकरा ईद जिसके अन्य नाम ईदुल अज़हा, ईद अल-अज़हा, ईद उल-अज़हा, ईद अल-अधा, ईदुज़ जुहा इत्यादि नाम से भी जाना जाता है। बकरीद क्यों मनाया जाता है? ऐसे में आपको बात दे बकरा ईद का मतलब अर्थ, कुर्बानी होता है। इस्लाम के मानने वाले मुस्लिम समुदाय का ईद उल अजहा एक प्रमुख त्यौहार है। रमाजन रोजा एक महीने रहने के बाद लगभग 70 दिन बाद बकरा ईद का त्यौहार मनाया जाता है।

बकरा ईद क्यों मनाया जाता है?

bakrid kyon manaya jata hai: इस्लाम के मान्यता के अनुसार अल्लाह पाक ने हज़रत इब्राहिम सलाम को एक ख़्वाब दिखाया। जिसमें कुर्बानी, अपने सबसे प्यारी या नजदीक जो है उसकी करनी थी। ऐसे में बहुत सोचने के बाद हज़रत इब्राहिम सलाम अपने पुत्र/बेटे की हज़रत इस्माइल सलाम की कुर्बानी देने का फैसला करते है। जब बेटे की कुर्बानी हजरत इब्राहिम सलाम दे रहे थे। आँख पर कपडा बाँधा गया था, क्योकि कोई भी पिता अपने बेटे को कुर्बान नहीं कर सकता है, इसलिए आँख पर कपड़ा बाँध कर कुर्बानी दी गई। जब आँख खोल कर देगा गया तो बेटे की जगह जुब्बा यानी भेड़ की कुर्बानी हुई थी। यह अल्लाह पाक का चमत्कार था। इसी रीति रिवाज को इस्लाम के मानने वाले आज भी मनाते है।

बकरा ईद का इतिहास क्या है?

bakrid kyu manaya jata hai in hindi: बकरा ईद का इतिहास इस्लाम के अनुसार काफी पुराना है। बकर एक अरबी शब्द है जिसका अर्थ मतलब होता है गाय लेकिन भारत में हिंदी उर्दू भाषा में बकरी-बकरा के नाम से जुडा हुआ माना जाता है। भारत में बकरे की कुर्बानी दी जाती है। इसी तरह से इसका नाम बिगड़ गया एंव आज भारत, पाकिस्तान, बांग्ला देश में “बकरा ईद” के नाम से जाना जाता है। कुर्बानी का अर्थ मतलब जानवर के जिबह अर्थात कुर्बान करना होता है।

bakra eid kyu manaya jata hai | बकरीद क्यों मनाया जाता है | bakrid kyon manaya jata hai

यह पढ़े:

लोकप्रिय लेख

यह भी देखे